29 November 2020

दोषी थाना प्रभारी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करें…हेमन्त सोरेन: सीएम के आदेश के बाद थाना प्रभारी निलंबित इससे पूर्व भी थाना प्रभारी हरीश पाठक के ऊपर गैर इरादतन हत्या का मामला

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन ने बरहेट थाना प्रभारी द्वारा एक युवती की पिटाई किये जाने के मामले को गंभीरता से लिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सरासर अनुचित और शर्मनाक कृत्य है, जो बर्दाश्त के काबिल नहीं। मुख्यमंत्री ने पुलिस महानिदेशक को मामले की जांच करते हुए दोषी थाना प्रभारी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का निदेश दिया है।

निलंबित हुए थाना प्रभारी

मुख्यमंत्री के निदेश के बाद आरोपी थाना प्रभारी को निलंबित कर दिया गया। पुलिस महानिदेशक ने मुख्यमंत्री को जानकारी दी कि आरोपी प्रभारी को पुलिस लाइन भेजा गया और उन्हें निलंबित कर दिया गया। डीएसपी बड़हरवा को कल शाम तक जांच करने और रिपोर्ट देने का निर्देश दिया गया है। रिपोर्ट मिलने पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। पीड़िता की सुरक्षा के लिए निर्देश जारी किये गए हैं।

यह है मामला…

मुख्यमंत्री से वीडियो साझा कर जानकारी दी गई कि बरहेट थाना प्रभारी एक दलित लड़की से कैसे पेश आ रहें हैं। वीडियो में थाना प्रभारी को युवती के साथ मारपीट करते और गाली देते दिखाया गया है।

सोशल मीडिया में वीडियो वायरल होते ही सत्ता पक्ष की ओर से सर्वप्रथम झामुमो जामा विधायक सीता सोरेन ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को ट्वीट करते हुए थाना प्रभारी को नौकरी से बर्खास्त करने की मांग की उन्होंने लिखा
मा.मुख्यमंत्री @HemantSorenJMM जी बरहेट थाना प्रभारी का एक महिला लड़की को पीटते हुए वीडियो वायरल हो रहा है.
जो महिला उत्पीड़न मानवीय अधिकार नियमों के खिलाफ है@JmmJharkhand महिलाओं के मान सम्मान की सोच रखती है अविलंब ऐसे थाना प्रभारी को नौकरी से बर्खास्त किया जाए.@JharkhandPolice

ऐसे थाना प्रभारी की पोस्टिंग कैसे हुई जांच का विषय जो पूर्व में घृणित प्रवृत्ति सोच से ताल्लुक रखता हो जिसकी कस्टडी में युवक की हत्या हो जाती हो झारखंड के समस्त थानों के प्रभारियों की पूर्व में उनके द्वारा घटित घटनाओं की जांच कर ही कमान सौंपी जाए.

प्रदेश की हेमंत सरकार को अपने साफ स्वच्छ छवि के लिए पूर्व के सभी थानेदारों के चरित्र को सत्यापन करते हुए जो पूर्व में किसी मामले में विवादित ना हो वैसे ही लोगों थानेदारों के ऊपर थानों की जिम्मेवारी सौंपी जानी चाहिए।


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed