मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन बने देश के टॉप सीएम… लॉकडाउन में झारखंड प्रदेश वासियों के लिए रियल नायक का किरदार बखूबी निभाया

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

झारखंड के प्रवासी मजदूरों और छात्रों को स्पेशल ट्रेन से सुविधा पूर्वक वापस लाकर गरीब असहाय मजदूर परिवारों के सहायतार्थ दीदी किचन थाना किचन मुख्यमंत्री आहार योजना चलाकर माननीय मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन बने इंडिया के टॉप सीएम। झारखंड के प्रवासी मजदूर छात्रों को लाने के लिए स्पेशल ट्रेन झारखंड सरकार के खर्चे पर रेल मंत्रालय भारत सरकार द्वारा चलाया जा रहा है जिसमें किसी भी यात्री को पैसा देना नहीं पड़ रहा है झारखंड सरकार केंद्र सरकार को प्रत्येक स्पेशल ट्रेन का किराया के साथ खाना पानी का बिल चुकता कर रही है.

फिल्म रियल नायक के किरदार को इस लॉकडाउन में बखूबी सच कर दिखाया झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने अपनी महत्वाकांक्षी योजना दीदी किचन, पुलिस किचन एवं मुख्यमंत्री आहार योजना के तहत अब तक डेढ़ करोड़ से अधिक लोग इस योजना का लाभ उठा चुके हैं जो कि गरीबों असहाय मजदूरों के लिए लॉकडाउन में वरदान साबित हुई और यह क्रम अभी लगातार जारी है। मुख्यमंत्री नहीं चाहते थे कि उनके राज्य में किसी भी परिवार के सदस्य को भूखा रहना पड़े अमीर हो चाहे गरीब मध्यम वर्गीय परिवार और चाहे सबसे पिछड़ा दलित आदिवासी अल्पसंख्यक तबका हर जरूरतमंद तक पहुंची सरकार सभी के जरूरतों का रखा गया ख्याल। जिस पुलिस प्रशासन से लोग कतराते थे पुलिस का चेहरा क्रूर माना जाता था आज वही झारखंड की पुलिस गरीब असहाय मजदूरों को थानों में खाना खिलाते नजर आ रही है गरीबों की सेवा में जुटी हुई है थानों में पुलिसिया रौब की जगह अधिकारियों पुलिस कर्मियों के द्वारा असहाय गरीबों के सहायतार्थ खाने बनवाए जा रहे है खाना को जरूरतमंदों तक इन्हीं पुलिसकर्मियों के हाथों पहुंचाया भी जा रहा है अपने हाथों परोस कर खिलाया भी जा रहा है हेमंत सरकार ने पुलिस पब्लिक को फ्रेंडली कर दिखाया जहां थाना किचन में एक समय का भोजन कराया जा रहा है वही दीदी किचन में दोनों समय का गर्म भोजन सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करते हुए करवाया जा रहा है।

लॉकडाउन के इतिहास में अब यह हमेशा याद रखा जाएगा मजदूर दिवस के दिन झारखंड के मुख्यमंत्री द्वारा मजदूरों को देश के पहले स्पेशल ट्रेन से हेमंत सोरेन जी के इच्छाशक्ति प्रयास वार्तालाप पहल से लॉकडाउन में देश का पहला ट्रेन चला जिसमें मजदूरों को तेलंगाना के हैदराबाद से झारखंड रांची वापस लाया गया जिसके बाद पूरे देश के प्रवासी मजदूरों में लॉकडाउन के दौरान वापस सकुशल यात्रा करते हुए अपने घर वापस जाने की उम्मीद जगी राजस्थान के कोटा में झारखंड के 3000 छात्र छात्राएं फंसी थी उन्हें भी स्पेशल ट्रेन से झारखंड वापस लाया गया केरल से भी 2 स्पेशल ट्रेनों में हजारों प्रवासी मजदूर वापस आ रहे हैं और यह सिलसिला पूरे देश के कोने कोने से सभी झारखंडवासियों के वापस आने तक लगातार जारी रहेगा झारखंड वासियों की उम्मीदों को अपने इच्छाशक्ति एवं दूरदर्शी सोच से पूरा कर रही है झारखंड हेमंत सोरेन की सरकार निजी स्कूलों में पढ़ रहे बच्चों के अभिभावकों का भी रखा गया ख्याल 3 महीने का स्कूल फीस बस फीस निजी स्कूलों द्वारा नहीं लेने का प्रस्ताव पास किया झारखंड हेमंत सोरेन सरकार के द्वारा लॉक डाउन में मधयम्वर्गीय परिवार जिसकी आर्थिक स्थिति की कमर टूट गई है इसलिए इससे उबरने के हेमंत सरकार की ओर से ऐहतियातन कदम उठाए जा रहे हैं।

झारखंड कोरोना सहायता मोबाइल एप के द्वारा देश के कोने कोने में फंसे झारखंड के प्रवासी भाइयों के खाते में डीबीटी के माध्यम से एक लाख से अधिक मजदूरों के खाते में अब तक एक ₹1000 की सहायता राशि भेज दी गई जो मुश्किल घड़ी में उनके काम आ सके
टोल फ्री नंबरो के द्वारा अब तक झारखंड सहित पूरे देश में 6 लाख प्रवासी भाइयों लोगों तक दूसरे प्रदेश के राज्य सरकारों एनजीओ के माध्यम से उन तक खाने का सुखा राशन सहायता उपलब्ध करवाया गया पड़ोसी राज्यों के लिए बसों की सेवा उपलब्ध कराई जा रही है जहां से लोगों को वापस लाया जा सके युद्ध स्तर पर कोविड-19 जांच के साथ स्वास्थ्य सेवाओं की व्यवस्था की गई

रियल नायक मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी की ओर से अनेकों प्रयास देखे गए जो रील नायक से निकलकर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने इस किरदार को रियल नायक में जनहित में जनता के प्रति सच कर दिखाया। लॉक डाउन के दौरान अपने कार्यों के बल पर देश के टॉप सीएम में काबिज हो गए।


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

9 thoughts on “मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन बने देश के टॉप सीएम… लॉकडाउन में झारखंड प्रदेश वासियों के लिए रियल नायक का किरदार बखूबी निभाया

  1. Sir Chennai se trean kab chorega, hmlog Chennai mai fase huye h, hmlog ghar jana chahota hu, or hm bokaro , chandankiyari k nibali hu

  2. आप से अपील करते हैं कि हम लोग को यहां से जल्दी झारखंड ले जाइए हम लोग साउथ दिल्ली में फंसे हुए हैं 12 लोगे रामपुरी पहाड़ी इसराइल के

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed